आइये जानते है की कब है जन्‍माष्‍टमी क्या है शुभ मुहूर्त…….

हम आपको बता दें कि कृष्ण जन्माष्टमी 2019 यानी जन्माष्टमी तारीख इस साल 24 अगस्त है
इस बार जन्माष्टमी शनिवार के दिन होगी. भद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि यानी कि आठवें दिन मनाई जाती है. हिंदू धर्म में जन्माष्टमी का महत्व बहुत अधिक माना जाता है. इसी दिन श्री कृष्ण का जन्म हुआ था. इस मौके पर लोग श्री कृष्ण जन्माष्टमी कथा का पाठ करते हैं. पूरे दिन भूखे और प्यासे रह कर कृष्ण भक्त निर्जल व्रत का पालन करते हैं और रात को 12 बजे कृष्ण जन्म की घड़ी के बाद से अपना व्रत खोलते हैं. श्री कृष्ण जन्माष्टमी 2019 के मौके पर लोग फिर से कृष्ण भक्ति में लीन होंगे. कृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर लोग घरों के बाहर झांकियां बनाते हैं. गोकुल की गलियों के दृश्य यहा तैयार किए जाते हैं और शाम होने पर सुबह से निर्जल कृष्ण जन्म का इंतजार कर रहे लोग मंदिरों की ओर निकल पड़ते हैं. यहां कृष्ण के बाल रूप को पालना झुलाया जाता है. .
श्री कृष्ण के सुन्दर और मन मोहक नाम
श्रीकृष्ण भक्तों ने जन्माष्टमी की तैयारियां भी शुरू कर दी हैं. पूरे भारत के साथ साथ विदेशों में भी जन्माष्टमी को धूमधाम से मनाया जाता है. श्रीकृष्ण की जन्मभूमि वृन्दावन में तो इस पर्व की एक अलग ही रौनक देखने को मिलती है. कृष्णा के कई नाम है. कृष्ण प्रेमी उन्हें कन्हैया, गोविंद, गोपाल, नंदलाल, ब्रिजेश, मनमोहन, बालगोपाल, मुरली मनोहर भगवान श्रीकृष्ण को उनके भक्त अनेक नामों से बुलाते हैं. बाल कृष्ण की शररातों से जुड़ी ढेरों कहानी हैं, जिन्हें आज भी सुनाया जाता है. श्रीकृष्ण को सफेद मक्खन बेहद ही पंसद था जिस कारण उन्हें ‘माखन चोर’ नाम से भी जाना जाता है.
आइये जानते है जन्माष्टमी पर बनने वाले पकवान कौन से होते है
जन्‍माष्‍टमी पर लोग श्रीकृष्ण के जन्मदिन को मनाते हैं. जन्माष्टमी के दि‍न कृष्ण भक्त उन्हें प्रसन्न करने के लि‍ए उनके मनपसंद खाद्य पदार्थ बनाते हैं. कृष्ण को माखन चोर कहा जाता है. उन्हें भोग लगाने के लिए यकीनन आप उनके पसंदीदा चीजें बनाने की तैयारी में होंगे जन्माष्टमी के दि‍न नंद के लाल, बाल गोपाल श्री कृष्ण को छप्पन भोग लगाए जाते हैं.
अब हम जानेगे जन्माष्टमी के शुभ मुहूर्त के बारे में
निशिथ पूजा– 00:01 से 00:45
पारण– 05:59, 24 अगस्त, सूर्योदय के बाद
रोहिणी समाप्त- सूर्योदय से पहले
अष्टमी तिथि प्रारंभ– 08:08, 23 अगस्त
अष्टमी तिथि समाप्त – 08:31, 24 अगस्त
राधे कृष्ण

0Shares
Total Page Visits: 1625 - Today Page Visits: 3

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *