अमेंडमेंट बिल के खिलाफ विद्युत कर्मियों ने बांधी काली पट्टी

बिल को वापस लिये जाने की केन्द्र सरकार से उठायी मांग
 राधानगर पावर हाउस में काली पट्टी बांधकर विरोध दर्ज कराते कर्मी
फतेहपुर। इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2020 के खिलाफ देश भर के इंजीनियरों के साथ प्रदेश के बिजली कर्मियों ने अपना विरोध दर्ज कराना शुरू कर दिया है। एनसीसीओईई के निर्णय के अनुसार कर्मचारियों ने काली पट्टी बांधकर बिल के खिलाफ नाराजगी का इजहार करते हुए केन्द्र सरकार को तत्काल इसे वापस किये जाने की मांग की।
विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले कर्मचारी राधानगर पावर हाउस में एकत्र हुए। जहां नेशनल कोआर्डिनेशन कमेटी आफ इलेक्ट्रिसिटी इम्प्लाइज एण्ड इंजीनियर्स (एनसीसीओईई) के निर्णय के तहत बिजली कर्मचारियां के साथ जूनियर इंजीनियरों व अभियन्ताओं ने इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2020 के विरोध में काली पट्टी बाँध कर विरोध दर्ज किया और केंद्र सरकार से बिल वापस लेने की मांग की। बिजली कर्मचारियों ने इस बात पर गहरा आक्रोश व्यक्त किया कि कोविड-19 महामारी के बीच जब सारा देश एकजुट होकर संक्रमण से संघर्ष कर रहा है तब केंद्र सरकार इलेक्ट्रिसिटी (अमेंडमेंट) बिल 2020 जारी कर निजीकरण करने की पहल शुरू कर दी। जिससे बिजली कर्मियों में भारी गुस्सा है। कर्मियों का कहना रहा कि विभाग का निजीकरण किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। यदि सरकार ने अमेंडमेंट बिल 2020 शीघ्र वापस न लिया तो सड़कां पर उतरकर आन्दोलन किया जायेगा। जिसकी जिम्मेदारी केन्द्र सरकार की होगी। इस मौके पर इं0 प्रमोद सिंह, इं0 राकेश पाल, उमाकांत अग्निहोत्री, गजेन्द्र सिंह, कमल पाण्डेय, वीरेश पटेल, इं0 निलेश मिश्रा, लवकुश मौर्या, इं0 रवि कुमार, धीरेन्द्र सिंह यादव आदि मौजूद रहे।

0Shares
Total Page Visits: 284 - Today Page Visits: 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *