अब यूपी में सबको मिलेगा इन्साफ

हरदोई में  में चोरी, लूट, साइबर जालसाजी जैसी घटनाओं समेत अन्य मामलों में एफआईआर न दर्ज होने पर पुलिस थानों का चक्कर लगाने की भी जरूरत नहीं है। अब उप्र पुलिस के मोबाइल एप्लीकेशन ‘यूपी कॉप एप’ के माध्यम से अज्ञात के खिलाफ ई-एफआईआर दर्ज कराई जा सकेगी।
एसपी आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि इन मामलों में पीड़ित को थानों के चक्कर लगाने होते हैं और समय से एफआईआर दर्ज न होने पर भारी नुकसान उठाना पड़ता है। आम नगरिकों की सहूलियत और पुलिस का बोझ कम करने के लिए इस प्रकार का एप्स तैयार किया गया है।उन्होंने बताया कि अब पुलिस से संबंधित कुल 27 जनोपयोगी सुविधाएं हासिल करने के लिए लोगों को थानों के चक्कर नहीं लगाने होंगे। नौकरों का सत्यापन, चरित्र प्रमाणपत्र के लिए आवेदन व सत्यापन, धरना-प्रदर्शन, समारोह और फिल्म शूटिंग के लिए अनुमति भी इस एप पर मिल सकेगी। इसके माध्यम से वरिष्ठ नागरिकों और दिव्यांगों को भी सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट, दुर्व्यवहार की रिपोर्ट, लावारिस लाश, गुमशुदा की तलाश, चोरी गई और रिकवर हुई गाड़ियों की जानकारी भी एप पर उपलब्ध होगी।
एप्लीकेशन डाउनलोड करने के लिए एंड्रॉयड फोन के प्ले स्टोर में जाकर यूपी कॉप सर्च करना होगा।डाउनलोड होने के बाद एप पर शिकायतकर्ता को अपना पंजीकरण कराना होगा। इससे उसकी अपनी खुद की आईडी बन जाएगी। आईडी बनाने के लिए पीड़ित को अपना नाम मोबाइल नंबर भी अपडेट करना होगा। आईडी बनने के बाद इसे लागिन किया जा सकता है।
0Shares
Total Page Visits: 3242 - Today Page Visits: 2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *