अनुज्ञापियों की समस्याओं को लेकर समिति ने सीएम को भेजा ज्ञापन

एडीएम को ज्ञापन देने के लिए कलेक्ट्रेट पर खड़े अनुज्ञापी
फतेहपुर। कोरोना वायरस के दौरान अनुज्ञापियों को हो रही समस्याओं को लेकर मद्य अनुज्ञापी कल्याण समिति के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री को एक ज्ञापन भेजकर मांगों का निराकरण कराये जाने की आवाज बुलन्द की।
मद्य अनुज्ञापी कल्याण समिति के अध्यक्ष वेद प्रकाश गुप्ता की अगुवई में पदाधिकारी कलेक्ट्रेट पहुंचे और मुख्यमंत्री को सम्बोधित छह सूत्रीय ज्ञापन अपर जिलाधिकारी को सौंपा। जिसमें कहा गया कि वर्ष 2020-21 में बनी आबकारी नीति को देखकर अनुज्ञापियों द्वारा अपनी दुकानों का नवीनीकरण कराया गया लेकिन 24 मार्च से 3 मई तक की बंदी व अब तक सुचारू रूप से मदिरा उपलब्धता न होने व वर्ष 2019-20 का बचा स्टाक बेंचने का सात दिन का समय 1/4 बिक्री समय पांच घण्टे घटवाने तथा नया स्टाक उठाने के जिला आबकारी अधिकारी द्वारा राजस्व बढ़ोत्तरी के तहत उठान करने का कोटा की बाध्यता जो 2020-21 की उठायी मदिरा पर बिक्री रोक पर कोविड टैक्स जमा उपरान्त बिक्री आदेश किया जाना एक साथ संभव नहीं है। मांग की गयी कि दुकानों का बंदी समय का किराया, बिजली बिल, सेल्स मैनेजर की तनख्वाह अनुज्ञापी को दी जाये, दुकान बंदी समय की लाइसेंस फीस वापसी व इस वर्ष में जितनी मदिरा बिक्री हो उतनी लाइसेंस फीस ही ली जाये, कोटा की बाध्यता समाप्त की जाये, जो अनुज्ञापी अपनी दुकान सरेण्डर करना चाहे उसकी धनराशि प्रतिभूति वापस कर दी जाये तथा दुकानां में बचे अवशेष स्टाक को बेंचने का एक माह का समय दिया जाये। कोविड टैक्स बढ़े हुए दाम के प्रिन्ट पर लिया जाये जो यह नया कर लग रहा है उससे जो बिक्री पर असर होगा उसका भी कुछ लाभ का भाग अनुज्ञापी को दिया जाये। एक जून 2020 के ओपनिंग स्टाक रजिस्टर में मिले प्रमाण के आधार पर लाइसेंस फीस व कोटा तय किया जाये, लाकडाउन के दौरान लुटी शराब दुकानों व चोरियों की एफआईआर तत्काल दर्ज करवायी जाये। दुकान खुलने का समय बढ़ाया जाये। जिससे भीड़ का दबाव कम हो। इसी के साथ ही अन्य मांगे भी शामिल रहीं। इस मौके पर सीमू सिंह, अरूण जायसवाल, गोरे सिंह सहित अन्य अनुज्ञापी मौजूद रहे।

0Shares
Total Page Visits: - Today Page Visits:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *